Thursday, 12 April 2018

कविता. ‌‌‌‌‌‌‌‌‌ २०७७. खयालों को समझ लेने मे कितनी।

                                                खयालों को समझ लेने मे कितनी।
खयालों को समझ लेने मे कितनी राहे निकल जाती है जो जीवन मे हर सही गलत को अलग दिशाओं कि दुआ दे जाती है जो जीवन मे हर पल को बदलावों कि कोशिश देती जाती है जो जीवन मे हर पहचान को अलग दास्तानों कि तलाश देती है जो जीवन मे हर एहसास को अलग दिशाओं कि पुकार देती है जो जीवन मे हर रोशनी को अलग दिशाओं कि पहचान देती है जो जीवन मे एहसास दे जाती है।
खयालों को समझ लेने मे कितनी दिशाएं निकल जाती है जो जीवन मे हर उजाले को अलग किनारों कि पहचान दे जाती है जो जीवन मे हर पल को उजालों कि अहमियत देती जाती है जो जीवन मे हर उजाले को अलग आवाजों कि पुकार देती है जो जीवन मे हर रोशनी को अलग किनारों कि कोशिश देती है जो जीवन मे हर पहचान को अलग दास्तानों कि कोशिश देती है जो जीवन मे अंदाज दे जाती है।
खयालों को समझ लेने मे कितनी पुकार निकल जाती है जो जीवन मे हर अंदाज को अलग राहों कि पहचान दे जाती है जो जीवन मे हर पल को आवाजों कि पुकार देती जाती है जो जीवन मे हर उम्मीद को अलग दिशाओं कि तलाश देती है जो जीवन मे हर उजाले को अलग कदमों कि पहचान देती है जो जीवन मे हर कदम को अलग आशाओं कि पहचान देती है जो जीवन मे दास्तान दे जाती है।
खयालों को समझ लेने मे कितनी आवाज निकल जाती है जो जीवन मे हर रोशनी को अलग उजालों कि अहमियत दे जाती है जो जीवन मे हर पल को अंदाजों कि कोशिश देती जाती है जो जीवन मे हर पहचान को अलग राहों कि कोशिश देती है जो जीवन मे हर उमंग को अलग राहों कि तलाश देती है जो जीवन मे हर रोशनी को अलग आवाजों कि कोशिश देती है जो जीवन मे एहसास दे जाती है।
खयालों को समझ लेने मे कितनी तलाश निकल जाती है जो जीवन मे हर आवाज को अलग अदाओं कि कोशिश दे जाती है जो जीवन मे हर पल को आशाओं कि पहचान देती जाती है जो जीवन मे हर राह को अलग दिशाओं कि पुकार देती है जो जीवन मे हर रोशनी को अलग एहसासों कि उम्मीद देती है जो जीवन मे हर अंदाज को अलग राहों कि तलाश देती है जो जीवन मे उमंग दे जाती है।
खयालों को समझ लेने मे कितनी राहे निकल जाती है जो जीवन मे हर उजाले को अलग अंदाजों कि पहचान दे जाती है जो जीवन मे हर पल को अंदाजों कि उमंग देती जाती है जो जीवन मे हर रोशनी को अलग अंदाजों कि कोशिश देती है जो जीवन मे हर पहचान को अलग आशाओं कि तलाश देती है जो जीवन मे हर परख को अलग आशाओं कि कोशिश देती है जो जीवन मे लहर दे जाती है।
खयालों को समझ लेने मे कितनी दास्ताने निकल जाती है जो जीवन मे हर उमंग को अलग तरानों कि कोशिश दे जाती है जो जीवन मे हर पल को कदमों कि पहचान देती जाती है जो जीवन मे हर उमंग को अलग अदाओं कि पहचान देती है जो जीवन मे हर पुकार को अलग अदाओं कि कोशिश देती है जो जीवन मे हर उम्मीद को अलग अंदाजों कि पहचान देती है जो जीवन मे किनारे दे जाती है।
खयालों को समझ लेने मे कितनी आवाज निकल जाती है जो जीवन मे हर राह को अलग दिशाओं कि पहचान दे जाती है जो जीवन मे हर पल को किनारों कि तलाश देती है जो जीवन मे हर उजाले को अलग दिशाओं कि कोशिश देती है जो जीवन मे हर उमंग को अलग खयालों कि तलाश देती है जो जीवन मे हर पहचान को अलग दिशाओं कि कोशिश देती है जो जीवन मे दास्तान दे जाती है।
खयालों को समझ लेने मे कितनी आशाएं निकल जाती है जो जीवन मे हर कदम को अलग उम्मीदों कि तलाश दे जाती है जो जीवन मे हर पल को आवाजों कि उमंग देती है जो जीवन मे हर रोशनी को अलग किनारों कि पहचान देती है जो जीवन मे हर कोशिश को अलग राहों कि पहचान देती है जो जीवन मे हर रोशनी को अलग कदमों कि पुकार देती है जो जीवन मे उजाले को अंदाज दे जाती है।
खयालों को समझ लेने मे कितनी राहे निकल जाती है जो जीवन मे हर उम्मीद को अलग दिशाओं कि पुकार दे जाती है जो जीवन मे हर पल को किनारों कि लहर देती है जो जीवन मे हर अंदाज को अलग दास्तानों कि सुबह देती है जो जीवन मे हर उजाले को अलग दिशाओं कि कोशिश देती है जो जीवन मे हर उम्मीद को अलग खयालों कि उमंग देती है जो जीवन मे दास्तान को कोशिश दे जाती है।

No comments:

Post a Comment