Friday, 10 August 2018

कविता. २३१८. ‌ हर उडती चिडीया को किनारों कि।

                                                       हर उडती चिडीया को किनारों कि।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि ताकत आसमान के बादलों सी बढती है हर एहसास को तरानों कि रोशनी सतरंगों से भर देती है हर आस को आशाओं कि रोशनी उजाले देती है हर लम्हा को कोई कहानी देती है हर पल में रोशनी कि चादर इशारों कि पहचान देती है हर सांस के संग एहसासों कि उम्मीद देती है हर पल को कदमों कि तलाश कि अहमियत देती है।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि उम्मीद आसमान के उंचाई सी बढती है हर आस को किनारों कि राह एहसासों से भर देती है हर लम्हे को आवाजों कि तलाश देती है हर दिशा से उजालों कि पुकार को कोई बदलाव देती है हर पल उमंग कि सौगात को उजालों से रोशन कर जाती है हर मोड के उम्मीदों कि तलाश देती है हर आस को दिशाओं कि अहमियत देती है।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि तलाश आसमान के दिशाओं सी बढती है हर पल को सतरंगी आशाओं कि उमंग से भर देती है हर रोशनी को उजालों कि राह देती है हर रंग को नजारों कि तलाश के एहसासों कि पहचान देती है हर मोड को कोशिश से आगे बढने कि उमंग देकर जाती है हर मौके के समझ कि तलाश देती है हर पल को उजाले कि अहमियत देती है।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि पहचान आसमान के लंबाई सी बढती है हर लम्हे को उजालों कि पहचान से भर देती है हर अदा को उम्मीदों कि पहचान देती है हर पल को दिशाओं कि परख के आवाजों कि पुकार देती है हर आस को उमंग से परख लेने कि कोशिश दे जाती है हर पल के उजाले कि पुकार देती है हर लम्हे को उम्मीदों कि अहमियत देती है।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि परख आसमान के सितारों सी बढती है हर आस को अंदाजों कि तलाश से भर देती है हर आस को कदमों कि राह देती है हर मोड को किनारों कि पुकार के एहसासों कि राह देती है हर लम्हा वह इशारों को लहरों से परख दे जाती है हर आस के लहरों कि पहचान देती है हर पल को उजालों कि अहमियत देती है।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि उम्मीद आसमान के मौसमों सी बढती है हर मोड को आवाजों कि पुकार से भर देती है हर लम्हे को लहरों कि कहानी देती है हर अदा को एहसासों कि कोशिश के राहों कि तलाश देती है हर आस को कदमों से एहसास दे जाती है हर मोड के उजालों कि परख देती है हर अंदाज को कदमों कि अहमियत देती है।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि पहचान आसमान के राहों सी बढती है हर आस को आशाओं कि उमंग से भर देती है हर पल को कदमों कि तलाश देती है हर अदा को सतरंगी अदाओं कि पुकार के सहारे देती है हर लम्हे को दिशाओं से उम्मीद दे जाती है हर उजाले के एहसासों कि उमंग देती है हर पल को इरादों कि अहमियत देती है।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि पुकार आसमान के पहचान सी बढती है हर मुस्कान को चुपके से उम्मीद कि पहचान से भर देती है हर आस कि तलाश देती है हर परख को कदमों कि तलाश के इरादे देती है हर रंग को नजारों से उजाले दे जाती है हर आस के लहरों कि कहानी देती है हर पहचान को आशाओं कि अहमियत देती है।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि परख आसमान के राहों सी बढती है हर परख को दास्तानों से अदा कि रोशनी से भर देती है हर लम्हे कि पहचान देती है हर अदा को सतरंगी यादों कि पुकार देती है हर मोड को कदमों से उम्मीद दे जाती है हर कदम के आवाजों कि कहानी देती है हर सुबह को दिशाओं कि अहमियत देती है।
हर उडती चिडीया को किनारों कि आवाज सुनाई जब पडती है उसके पंखों कि पहचान आसमान के इरादों सी बढती है हर आस को कदमों से उम्मीद कि पुकार से भर देती है हर आस कि राह देती है हर अंदाज को तरानों कि रोशनी देती है हर अदा को सतरंगी यादों से उमंग दे जाती है हर इरादे के कदमों कि पहचान देती है हर तलाश को उम्मीदों कि अहमियत देती है।

No comments:

Post a Comment