Friday, 14 September 2018

कविता. २३८७. ‌‌‌‌‌‌‌‌‌ हर तलाश को बदलावों कि पुकार।

                                       हर तलाश को बदलावों कि पुकार।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर सरगम को आवाजों कि प्यास देती है हर कदम को एहसासों कि पहचान देती है हर उजाले को अंदाजों कि उम्मीद कोशिश देती है हर आस को दास्तानों कि तलाश देती है हर आवाज को तरानों कि सुबह देती है हर कदम को बदलावों कि परख देती है हर दिशा को दास्तानों कि पुकार देती है।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर आवाज को तरानों कि कोशिश देती है हर अदा को अंदाजों कि कोशिश देती है हर पुकार को दास्तानों कि पहचान इशारे देती है हर खयाल को आशाओं कि पहचान देती है हर कदम को बदलावों कि तलाश देती है हर पहचान को दिशाओं कि पुकार देती है हर दास्तान को इरादों कि पुकार देती है।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर खयाल को आशाओं कि उम्मीद देती है हर उजाले को अदाओं कि परख देती है हर कदम को बदलावों कि उमंग राहे देती है हर किनारे को लहरों कि जरुरत देती है हर नजारे को मौसम कि पुकार देती है हर खयाल को आशाओं कि पहचान देती है हर आवाज को तरानों कि पुकार देती है।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर रोशनी को उजालों कि परख देती है हर उम्मीद को खयालों कि उमंग देती है हर खुशी को आशाओं कि तलाश अंदाज देती है हर परख को लम्हों कि तलाश देती है हर अंदाज को कदमों कि आहट देती है हर मौसम को बदलावों कि तलाश देती है हर अल्फाज को बदलावों कि पुकार देती है।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर किस्से को अल्फाजों कि तलाश देती है हर कदम को एहसासों कि कोशिश देती है हर अदा को दिशाओं कि तलाश देती है हर उमंग को उजालों कि कोशिश देती है हर आवाज को तरानों कि कोशिश देती है हर सरगम को एहसासों कि सुबह देती है हर प्यास को एहसासों कि पुकार देती है।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर आस को किनारों कि लहर देती है हर अंदाज को कदमों कि तलाश देती है हर सुबह को उजालों कि तलाश देती है हर कोशिश को अदाओं कि परख देती है हर किनारे को लहरों कि जरुरत देती है हर आवाज को तरानों कि कोशिश देती है हर एहसास को आवाजों कि पुकार देती है।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर परख को जज्बातों कि उम्मीद देती है हर किनारे को लहरों कि जरुरत देती है हर आवाज को तरानों कि कोशिश देती है हर खयाल को आशाओं कि तलाश देती है हर एहसास को दास्तानों कि तलाश देती है हर आवाज को तरानों कि कोशिश देती है हर अफसाने को दिशाओं कि पुकार देती है।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर खयाल को आशाओं कि कोशिश देती है हर कदम को बदलावों कि आस देती है हर जज्बात को बदलावों कि तलाश देती है हर इशारे को बदलावों कि उमंग देती है हर लहर को नदीयां कि तलाश देती है हर खयाल को अल्फाजों कि तलाश देती है हर खयाल को राहों कि पुकार देती है।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर अंदाज को कदमों कि पहचान देती है हर परख को आवाजों कि कोशिश देती है हर खयाल को आशाओं कि उमंग देती है हर कदम को एहसासों कि तलाश देती है हर कदम को बदलावों कि उमंग देती है हर अंदाज को किनारों कि लहर देती है हर अदा को एहसासों कि पुकार देती है।
हर तलाश को बदलावों कि पुकार एहसास देती है हर इशारे को दास्तानों कि पहचान देती है हर आवाज को तरानों कि कोशिश है हर अंदाज को दास्तानों कि उम्मीद देती है हर अदा को एहसासों कि उम्मीद देती है हर किनारे को लहरों कि जरुरत देती है हर अल्फाज को दिशाओं कि तलाश देती है हर आवाज को तरानों कि तलाश देती है हर राह को बदलावों कि पुकार देती है।

No comments:

Post a Comment